headlines:

Sed do eiusmod temaor ( By: Jhon Doe )

Sed do eiusmod. ( By: Jhon Doe )

Sed do eiusmod temaor. ( By: Jhon Doe )

समाज का हर व्यक्ति यह चाहता है कि वो हमेशा एक Comfortable life को जिये। इसके लिए लोग नौकरी या अन्य व्यवसाय करके अपनी Income में से कुछ खर्च करते हैं, तो कुछ की Saving कर लेते हैं। लेकिन आपकी Saving तब तक अधूरी हैं जब तक कि उसे सही जगह पर Invest (निवेश) ना किया जाए| जो लोग अपने Investment पर High Return प्राप्त करना चाहते हैं और Risk उठा सकते हैं वो अपनी बचत (Savings) को और Shares में Invest करना अधिक पसंद करते हैं। लेकिन सभी लोगों को शेयर बाजार की जानकारी नहीं होती है जिस कारण उनका Shares में लगाया हुआ धन डूब जाता है या वे सही तरह से निवेश नहीं कर पाते। इसका मुख्य कारण यह है कि समाज के अधिकतर लोगों को शेयर बाज़ार में निवेश कैसे करें, इसकी पूरी जानकारी नहीं होती है। इस लेख हम आपको बताएँगे कि Share Market Investment करने से पहले क्या सावधानी रखनी चाहिए या किन बातों का ध्यान रखना चाहिए| जो लोग Share Market में नए हैं और Shares के बारे में ज्यादा नहीं जानते, वे पहले Investment से सम्बंधित इन गाइड्स को पढ़ सकते हैं:

Tips to Invest in Stock Market (Hindi)

भेड़-चाल का हिस्सा न बनें:

बाज़ार के उतार-चढाव को अपना मित्र समझिये ; दूसरों की मूर्खता से लाभ उठाइए , उसका हिस्सा मत बनिए।     – वारेन बफे

हम इंसानों कि यह खासियत है की जब भी कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेना होता है या फिर कोई काम करना होता है तो फिर अपने निकट के संबंधियों, मित्रों और साथियों से सलाह मशविरा करके ही वो काम करते हैं। लेकिन Shares Investment करने से पहले आपको इस भेड़-चाल मानसिकता से बचना होगा। अगर आप यह सोचें की सभी जिस Company Shares में Invest कर रहे हैं तो आपको भी वही करना है, तो आप फंस सकते हैं। ऐसा करना आपके Long Term Investment के लिए घातक सिद्ध होगा। इसलिए आपको भीड़ का हिस्सा न बनकर अपना निर्णय अपनी जानकारी, Invest करने के उद्देश्य, एनालिसिस और समझ के अनुसार लेना चाहिए

निवेश करें व्यवसाय में:

शेयर मार्किट का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण नियम है की आप जब भी Invest करें, हमेशा Business में निवेश करें न की Stock में। Invest करते समय आप उस कंपनी का व्यवसाय देखें यानि यह देखें की कंपनी क्या Business  कर रही हैं और किस तरह से कर रही हैं। उस कंपनी के shares में Invest करें जिसका व्यवसाय आप समझते हों|

सोचा-समझा फैसला:

अगर आप Stocks में Investment करने का निर्णय ले रहे हैं तो जिस भी Company के Shares में आप निवेश करना चाहते हैं उस कंपनी की पिछले वर्षों की Performance देखने के लिए उनकी Balance Sheet और सभी जरूरी  Financial Statement को अच्छी तरह से स्टडी कर लें। उसके बाद ही अपनी धन राशि को निवेश करने का निर्णय लें|

जोखिम तब होता है, जब आपको यह पता न हो कि आप क्या कर रहे हैं।   – वारेन बफ़े 

 

समय में न बाँधें:

जब आप किसी कंपनी के शेयर्स को स्टडी कर रहे हों तो केवल Maximum और Minimum Shares Price को ही न देखें बल्कि पूरे Share Pattern का अध्ययन करें। अधिकतर Investors निवेश करते समय Share Price Level में यह गलती कर देते हैं जिसका उन्हें Long Term Investment में नुकसान पड़ता है।

अनुशासित निवेश:

Shares Market की उत्तार-चढ़ाव में डर और लालच से निर्णय ना लेकर अपने एनालिसिस और धैर्य से निर्णय लें। जो भी निवेशकर्ता अनुशासित रूप से और धैर्य पूर्वक सही कंपनी के सही शेयर्स में निवेश करते हैं वही लंबे समय तक Share Market के Profit का लाभ उठा सकते हैं।

भावनाओं में न बहें:

शेयर बाजार में Invest करते समय डर और लालच जैसे भावनाओं से मुक्त रहें और निर्णय लें। यह दोनों ही भावनाएँ आपके निर्णय को प्रभावित करके आपका नुकसान करवा सकतीं हैं।

पोर्टफोलियो:

वो लोग जो अपने निवेश के पोर्टफोलियो में Diversification रखते हैं उन्हें ही इस बाज़ार का सही लाभ मिलता है। अगर आप अपन Investment का एक अच्छा  पोर्टफोलियो बनाकर अलग-अलग कंपनी के शेयर को रखेंगे तो आप अपनी Risk को कम से कम (Minimize) कर सकते हैं।

रियलिस्टिक इमोशन:

निवेश करने से पूर्व आपको Return of Investment यानि ROI की Calculation बहुत सोच-समझ कर करनी होगी।  यदि आप अपने निवेश में कम से कम 12% भी Income Earn कर लेते हैं तो यह गणना गलत नहीं होगी। लेकिन यदि आप बहुत अधिक उत्साहित होकर 50% तक की आय की उम्मीद करते हैं तो कभी-कभी यह उत्साह आपको भारी नुकसान पहुंचा सकता है।

अतिरिक्त धन का उपयोग:

Share Market में Invest करते समय अपने उस धन का प्रयोग करना चाहिए जो आपके मुख्य आय और व्यय को प्रभावित न करे। इसलिए अपनी Extra Money को ही शेयर बाज़ार में निवेश के लिए प्रयोग करना चाहिए।

पैनी नज़र:

आपको शेयर बाज़ार में निवेश करने के बाद न केवल कंपनियों की उठापटक पर ध्यान देना होगा बल्कि सारे विश्व में होने वाली हलचल पर भी अपनी पैनी नज़र रखनी होगी। दुनिया के किसी भी हिस्से में होने वाली घटना या दुर्घटना का सीधा असर Stock Exchange पर होता है। इसलिए अपने आपको हर समय Update रखना होगा।