headlines:

Sed do eiusmod temaor ( By: Jhon Doe )

Sed do eiusmod. ( By: Jhon Doe )

Sed do eiusmod temaor. ( By: Jhon Doe )

किसी भी Business को शुरू करने से पहले Planning एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया हैं और लिखित Business Plan बनाना इस प्रक्रिया का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं| Business Plan एक तरह से आपके बिज़नेस का नक्शा (Map) या Blueprint होता हैं जिसमें आपके बिज़नेस की सामान्य जानकारी, व्यवसाय के लक्ष्य और उन लक्ष्यों को प्राप्त करने का तरीका आदि  बातें लिखी होती हैं| बिज़नेस प्लान न केवल आपके Guide के रूप में काम करता हैं बल्कि Bank Loan, Startup Funding or Business Partneship आदि कई महत्वपूर्ण कार्यों  के लिए जरूरी होता हैं|

लगभग सभी तरह के Business Loans के लिए बिज़नेस प्लान बनाना बहुत जरूरी हैं नहीं तो Banks, Loan देने से मना कर सकते हैं|

Business Plan क्या है

कोई भी काम करने से पहले उसकी योजना बनाई जाती है। यही बात Business के ऊपर भी लागू होती है जहां इस योजना का लिखित रूप Business Plan कहलाता है। दरअसल Business Plan एक ऐसा Document है जो किसी नए Business के ‘क्या’, ‘क्यों’ और ‘कैसे’ जैसे सभी प्रश्नों का उत्तर देता है । जैसे :

  • हमारा Business क्या है ?
  • हम ये Business क्यों करना चाहते हैं
  • हम इस Business को कैसे करेंगे ?

इन सभी प्रश्नों के उत्तर हमे बिज़नेस प्लान के द्वारा मिलता हैं । प्रमुख रूप से Business Plan नये व्यवसाय के लिए होता है लेकिन कोई वर्तमान Business कुछ नया कर रहा है तो भी Business Plan बनाकर Business को आगे बढ़ा जा सकता है। Business Plan से सिर्फ Start-up नहीं बनती है बल्कि Business को Established भी करती है । समय-समय पर परिस्थितियों के अनुसार Business Plan में बदलाव भी किए जा सकते है।

Business Plan क्यों बनाया जाता है:

आप यह सोच सकते हैं कि Business Plan को बनाने की जरूरत क्या है। अपने Business Plan के माध्यम से व्यवसायी अपने निर्धारित लक्ष्यों का लिखित रूप और उन लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए वह क्या रणनीति बना रहा है, स्पष्ट रूप से बताता है। व्यावसायिक योजना या बिज़नेस प्लान निम्न उद्देश्यों के लिए बहुत जरूरी होता हैं:-

  • Bank में Business Loan के लिए Apply करना
  • अपने Small Business या Startup के लिए Venture Capital Firm या Crowdfunding जैसे अन्य तरीकों से Fund जुटाना
  • Business से सम्बंधित किसी भी प्रकार की Subsidy या कोई Scheme के लिए Apply करना
  • Business Partnership और फ्रेंचाइजी आदि के लिए

एक अच्छी तरह से बनाए गए Business Plan से न केवल Bank और अन्य बाहरी स्त्रोतों से वित्त (Funding or Finance) प्राप्त करना सरल होता है बल्कि Internal Operations में भी यह सहायक होता है।

 

How to Write a Good Business Plan – अच्छा बिजनेस प्लान कैसे बनाए

किसी भी योजना का निर्माण बहुत सोच समझ कर किया जाता है। यही बात Business Plan बनाते समय भी लागू होती है। कोई भी व्यवसाय शुरू करने से पहले उसकी योजना Business Plan के रूप में तैयार की जाती है। इसलिए एक अच्छे Business Plan को बनाने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखा जाता है। इनमें प्रमुख हैं :

  • इस Business Plan को बनाने का Core Objective क्या है ?
  • Business Plan को किन लोगों के लिए बनाया जा रहा है । अथार्थ इसे पढ़ने वाले लोगों में Investors या Bankers हैं जिनका धन व्यवसाय में Invest हुआ है ?
  • आपके Business Plan में क्या-क्या शामिल है?
  • आपको एक संक्षिप्त या विस्तृत Business Plan चाहिए ?

जब इन प्रश्नों का उत्तर मिल जाता है तो एक व्यवसायी अपना Business Plan बनाना शुरू करता है। किसी भी एक सफल और स्पष्ट Business Plan में निम्न विषयों पर Focus किया जाता हैं:-

1. बिजनेस का उदेश्य क्या है – अच्छी तरह से डिजाइन किया हुआ Business Plan किसी भी व्यवसाय के उद्देश्यों को बता सकता है। इस Business Plan के माध्यम से व्यवसायी ने अपने भविष्य के लिए क्या योजना बनाई है, इसका पता चलता है । इन उद्देश्यों से व्यवसाय से जुड़े लोगों को क्या लाभ होगा, इसका ब्यौरा भी Business Plan से ही चलता है।

2. Business के स्पष्ट विवरण का वर्णन – Business Plan के माध्यम से किसी भी व्यावसायिक इकाई के बारे में Complete Description का पता लगता है। इस Business Plan के द्वारा ही किसी अन्य व्यक्ति को यह पता चलता है की आपने अपना व्यवसाय कैसे शुरू किया था और आपका क्या उद्देशय है ।

3. व्यवसाय के उत्पाद और सेवाएँ क्या हैं – Business Plan को डिजाइन करते समय व्यवसायी यह निश्चित कर सकता है की उसे किस प्रकार के Products का उत्पादन करना है और क्या Services देनी है।

4. मार्केट विश्लेषण में सहायक – व्यवसायी जब Business Plan को बनाता है तो उससे पहले वह अपने संबन्धित बाजार का विश्लेषण (Market Analysis) भी कर लेता है। इस विश्लेषण के माध्यम से ही भविष्य में होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में पता लग सकता है।

5. व्यावसायिक ढांचे का विवरण – किसी भी व्यावसायिक ढांचे में उसके कर्मचारी और प्रबंधकीय क्षमता का पता लगता है। Business Plan को बनाने से Business Structure के बारे में भी पता लग जाता है।

6. संसाधनों का उपयोग – किसी भी व्यावसायिक इकाई का सबसे अच्छा साधन उसमें लगाया गया धन और व्यवसायी का समय होता है। Business Plan को बनाते समय आपको यह निश्चय करना होगा की इन दोनों ही महत्वपूर्ण संसाधनों का उपयोग कैसे करना है।

7. लक्ष्य निर्धारण  – किसी भी काम को सफलतापूर्वक करने के लिए उसका लक्ष्य का निर्धारण करना जरूरी है। Business Plan को बनाते समय व्यवसाय के लक्ष्यों का निर्धारण सरल हो जाता है ।

 

Business Plan Template in Hindi – बिज़नेस प्लान टेम्पलेट

हालाँकि किसी भी Business Plan का कोई फिक्स फॉर्मेट नहीं हैं और इसे आवश्यकता के अनुसार अलग अलग तरीके से बनाया जाता हैं| सामान्यत: एक Business Plan के निम्न भाग होते हैं:-

Executive Summary – एग्ज़ीक्यूटिव संक्षेप

Executive Summary किसी भी Business Plan का पहला भाग होता हैं और इसके अंतर्गत Business Plan से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बातों को सारांश के रूप में लिखा जाता हैं|  Business Naure, Legal Structure, Product or Services, Target Market, Business Model, Management Team,  Marketing Plan, Goals, Financial Projection, Fund or Loan Required आदि को संक्षेप में बताया जाता हैं|

बाकि के Business Plan का पूरा सार इस भाग में लिखा होता हैं, इसलिए भाग को सबसे अंत में बनाना बेहतर होता हैं|

Company or Business Overview – व्यावसायिक पृष्ठभूमि:

Business Plan के इस भाग में आपके व्यवसाय से सम्बंधित पूरी जानकारी को विस्तृत में लिखा जाता जैसे

  • व्यवसाय की प्रकृति
  • आप क्या बेचेंगे – Product or Service Description
  • आपका Target Market क्या हैं
  • व्यवसाय का Legal Structure यानि कि व्यवसाय एकल, साझेदारी या कंपनी हैं,
  • कर्मचारी और मैनेजमेंट टीम,
  • व्यावसायिक स्थल

इसके आलावा इस भाग में व्यवसाय के Product या Services से सम्बंधित सभी बातों को विस्तृत में लिखा जाता हैं जैसे:-

  • आपका प्रोडक्ट या सर्विसेज से कौनसी समस्या सुलझ रही हैं या यह लोगों के क्या काम आ रही हैं?
  • आपका product या services दूसरों से कितना अलग हैं?
  • लोग आपके Product को क्यों खरीदेंगे
  • आप अपने product को कैसे बनायेंगे और क्या वह तरीका सबसे बेहतर हैं?
  • क्या आपने प्रोडक्ट और सर्विसेज का Trademark, Patent आदि का रजिस्ट्रेशन करवा दिया हैं

Product/Service Description को अलग भाग में भी दिखाया जा सकता हैं|

 Market Analysis – बाजार विश्लेषण

इस भाग में आपके Product या Service के Target Market से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बातों का एनालिसिस किया जाता हैं जैसे:-

  • टारगेट मार्केट, मार्केट साइज़ और Deemand
  • आप किसे बेचेंगे – Target Customer, उनका व्यवहार, वर्ग और खरीद शक्ति (Purchasing Power)
  • आपके competitors कौन हैं और उनके पास कितना Market Share हैं, उनकी शक्तियां और कमजोरियां
  • भविष्य में Demand और Market में होने वाले महत्वपूर्ण परिवर्तन

Marketing Strategy – बाजार रणनीति 

Business Plan का यह भाग बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस भाग में उन सभी नीतियों वर्णन होता है जो आप अपने Product and Services को कस्टमर तक पहुँचाने और Market Promotion के लिए प्रयोग में लाना चाहते हैं। इस भाग के अंतर्गत आपको निम्न बातों को निर्धारित करना होता हैं:-

  • आपके Product या Service मार्केट में अपनी जगह कैसे बनायेंगे
  • आपके Target Customer कौन हैं जो सबसे पहले आपके Product या Services में रुचि दिखायेंगे और आप उन तक कैसे पहुंचेंगे
  • आपकी Pricing Policy क्या होगी
  • आप अपने Product या Service को किस तरह से Promote करेंगे जैसे Direct Marketing, Advertisement Social Media etc.
  • आप किस तरह से अपने product या services को कस्टमर तक पहुंचाएंगे – डिस्ट्रीब्यूशन चेनल
  • आपकी Selling Strategy क्या होगी?

Financial Analysis – वित्तीय योजना:

Financial Analysis किसी भी Business Plan का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं क्योंकि यह भाग आपके व्यवसाय की सारी महत्वपूर्ण बातों और Projection को फिगर्स या नंबर्स में प्रस्तुत करता हैं| इसी भाग से बैंक या वेंचर फर्म को आपके व्यवसाय की वित्तीय स्थिति और पूँजी की आवश्यकता का पता चलता हैं जिसके आधार पर Banks, लोन देती हैं और Venture Capital Firms, निवेश करते हैं| यह हिस्सा मुख्य रूप निम्न बातों पर केन्द्रित होता हैं:

  1. आपको Business के लिए कितनी पूँजी या Fund की जरूरत हैं और इसका उपयोग कहाँ कहाँ पर करेंगे – Capital/Fund Requirement
  2. आप इस पूँजी को कैसे जुटाएंगे – Loan, Venture Funding, Crowd Funding, Own Capital etc.
  3. आप कितने वर्ष के लिए Loan लेंगे, इसकी Security क्या होगी और इसका पुनर्भुगतान कैसे करेंगे
  4. आपके Business के Revenue/Income Sources क्या होंगे – Sales, Other Incomes
  5. आपके Business के Exepnditure क्या होंगे – Purchases, Interest Payment, Rent etc.
  6. Sales, Revenue और Expenses के आधार पर आपके Business के अगले 3-5 वर्षों Profit & Loss Forcast
  7. आपके Business का Growth Forcast
  8. Business Risk और उसके संभावित परिणाम

Financial Analysis के महत्वपूर्ण Statements/Forcast

  • Capital Requirement and Sources of Capital
  • Sales Forcast of 3-5 Years
  • Profit and Loss Forcast of 3-5 Years
  • Cashflow Statement 
  • Balance Sheet

Business Plan आपके व्यवसाय का सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज हैं जो आपके Business को आगे बढ़ाने में निरंतर रूप से आपको गाइड करता है। इसलिए इसके निर्माण में बहुत सावधानी का प्रयोग करना चाहिए।

Operations – कार्यप्रणाली 

यह एक महत्वपूर्ण भाग हैं जिसमें Business Operations यानि कि “व्यवसाय कैसे चलेगा” इससे सम्बंधित सभी बातों की विस्तृत जानकारी होती हैं जैसे:

  • Business Place – आप किस जगह पर अपना व्यवसाय करेंगे| क्या आप जगह खरीदेंगे या किराये पर लेंगे|
  • Production Facility and System – आपके पास प्रोडक्शन फैसिलिटी किस प्रकार की हैं और क्या यह जरूरत के मुताबिक हैं|
  • Purchase Plan – आप अपने Inputs को किस तरह से खरीदेंगे और क्या यह सबसे बेहतर तरीका हैं
  • Production Plan – आप किस प्रकार अपने Product का उत्पादन करेंगे| Deemand के आधार पर या Estimates के आधार पर|
  • Workforce Structure and their roles – आपके कर्मचारियों के पद, कार्यक्षेत्र और उनकी जिम्मेदारियां
  • Systems and Information Technology – आपके व्यवसाय का मुख्य IT सिस्टम किस तरह का होगा
  • Store Facility – आप कितना Stock रखेंग और कहाँ पर रखेंगे|